हिन्द देश के लिये

दिल की बात देश के साथ

31 Posts

31 comments

Rahul Goyal


Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

Sort by:

क्या हम आज भी गुलाम है?

Posted On: 22 Jun, 2013  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Others में

0 Comment

देश की नेता दलितों का अपमान क्यों करते है

Posted On: 3 Sep, 2012  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Others में

2 Comments

Posted On: 22 Aug, 2011  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

में

0 Comment

Page 1 of 41234»

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

के द्वारा: jalal jalal

के द्वारा:

महोदय, इस पोस्ट के लिए बधाई, स्वतंत्र भारत में सबको अपनी बात कहने का अधिकार है साथ ही अगर किसी को लगता है की सामने वाला कुछ गलत कह रहा है तो उसके लिए अदालत है वहां मानहानि का दावा किया जा सकता है | जब आप ( आर एस एस ) राष्ट्र के लिए सच्चे देशभक्तों का निर्माण करने में लगे हैं और अपने आपको नान पोलिटिकल इकाई के रूप में प्रस्तुत कर रहे है वहीँ दूसरी ओर आप भारतीय जनता पार्टी के सर्वेसर्वा है आपकी मर्जी के बिना बे.जे.पी. में पत्ता भी नहीं खड़क सकता तमाम हिन्दू वादी संगठन आप से उर्जा पाते है ऐसे में आप कब तक राजनीती से अछूते रहोगे - जिस दिन आप केवल सांकृतिक राष्ट्रवाद की ओर चलेंगे राजनीती का त्याग करके उस दिन आप पर कोई आरोप तो लगा ही नहीं सकता ऐसा सोच भी नहीं सकेगा | अब भारत न तो १९४७ का भारत है और न १९९२ का आज का भारत २०१० का भारत है - शब्दों के मायाजाल में आज की पीढ़ी नहीं फसती -- जहाँ तक राहुल गाँधी की बात है उसे यह कहने का हक़ हो सकता है क्योंकि उसकी पार्टी ने ही आर एस एस पर तीन बार प्रतिबंध लगाया था परन्तु उसे मिला क्या ? हिंदी, हिंदुत्व, हिन्दुस्तान एक साश्वत्त सच्च है न तो इसे कोई मिटा सकता, न कोई बाँट सकता है और न कोई तोड़ सकता है ----------------------

के द्वारा:




latest from jagran